अपेक्स बैंक द्वारा संचालित छत्तीसगढ़ राज्य सहकारी प्रशिक्षण संस्थान पंडरी रायपुर में तीन दिवसीय प्रशिक्षण का हुआ आज समापन

भुवन वर्मा बिलासपुर 01 दिसंबर 2022

रायपुर । प्रशिक्षण संस्थान द्वारा स्वयं सहायता समूह, फार्मर क्लब एवम संयुक्त देयता समूह पर आधारित विषय पर संकाय सदस्यों ने प्रदेश के सहकारी बैंकों के अधिकारियों व कर्मचारियों को प्रशिक्षण दिये।

प्रशिक्षण समापन दिनाँक 30.11.2022 में मुख्य अतिथि पद्मश्री श्रीमति फुलबासन यादव एवं अध्यक्षता अपेक्स बैंक के अध्यक्ष व केबिनेट मंत्री दर्जा, छत्तीसगढ़ शासन श्री बैजनाथ चन्द्राकर के द्वारा किया गया।

इस अवसर पर पद्मश्री श्रीमति फुलबासन यादव ने कहा कि महिला स्वयं सहायता समूहों की आर्थिक आत्मनिर्भरता बनाये जाने में सहकारी बैंकों के अधिकारियों का भरपूर सहयोग मिला। इस अवसर पर उन्होंने राजनांदगांव जिले के सुदूर गांव छुरिया व सुकूल दैहान में अपने बचपन के गरीबी,आभावों व संघर्षों को याद करते हुए कहा कि वह मश्किल से 5 वी तक पढ़ाई कर पाई। गांव में वह बकरी चराया करती थी। उन्होंने गांव की महिलाओं को संगठित किये। हमे डर को हथियार , अज्ञानता को ढाल, गरीबी को तलवार और समाज के कुरूतियो को ढाल बनाकर लड़ना चाहिए, जिससे कि महिलाएं ताकतवर बन सके। सहकारी बैंक और स्व-सहायता समूह सुख-दुख के साथी रहे है। और एक – दूसरे की मदत करते रहे है। उनके समूह द्वारा स्कूली बच्चों के स्वास्थ्य के लिए काम किया गया। नशा मुक्ति के लिए मुहिम चलाई । श्रीमती फुलबासन यादव का 10 साल की उम्र में विवाह के बाद ग्रामीण परिवेश में बहुत विपरीत हालत में भी 2001 में 11 महिलाओं का मा बम्बलेश्वरी स्व-सहायता समूह बनाकर दो रुपये व दो मुट्ठी चावल संकलित कर काम की शुरुवात किये जो आज विशाल वटवृक्ष का रूप धारण कर लिए है। आज महिलाओं की 1400 स्वयं सहायता समूह कार्य कर रही है , जिसमे लगभग 2 लाख से अधिक महिलाओ की सकिय भागीदारी है। ग्राम संडी विकास खंड छुईखदान में दुग्ध शीतलीकरण संयत्र का सफलतापूर्वक संचालन किया जा रहा है। महिला सशक्तिकारण व आर्थिक आत्मनिर्भरता में राजनांदगांव जिला पूरे देश मे मिसाल है। श्रीमती फुलबासन यादव महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाने के अलावा कुपोषण व बाल विवाह व नशा मुक्ति के खिलाफ जागरूकता एवं महिला सुरक्षा ,स्वास्थ्य, स्वकछता तथा शिक्षा की दिशा में लगातार काम कर रही है। श्रीमती फुलबासन को न तो वोट चाहिये न नोट चाहिए । समाज के लिए, महिलाओं के विकास के लिए वह निःस्वार्थ भावना से काम कर रही है। श्रीमती फुलबासन यादव मरणोपरांत देहदान भी कर चुकी है। उनका जीवन महिलाओं के लिए प्रेरणादायी है।

अपेक्स बैंक के अध्यक्ष श्री बैजनाथ चन्द्राकर ने अपने अध्यक्षीय उद्बोधन में कहा कि छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल का भरोषा कोआपरेटिव्ह बैंको में अधिक है। सहकारी बैंक किसानों का बैंक है। किसानों की खेतिगत ऋण आवश्यकता की पूर्ति में सहकारी बैंक पूरी तत्परता से काम कर रहा है। किसान हितैषी मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल जी के निर्देशन में गांव, गरीब किसान व खेतिहर मजदूरों, वनांचल एरिया के आदिवासियो व महिलाओं के बैंक खाते में सहकारी बैंकों के द्वारा कृषि आदान की सहायता राशि सतत रूप से किसानों के खाते में अंतरण किया जा रहा है। जिससे छत्तीसगढ़ के लोग में खुशहाली एवम संवृद्धि आई है। श्री बैजनाथ चन्द्राकर ने कहा कि श्रीमति फुलबासन यादव का जीवन संघर्षों व उपलब्धियो से भरा है। ग्रामीण महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाने में उनके द्वारा लगातार कार्य किये जा रहे है। उनका जीवन हम सबके लिए प्रेरणादायी है।

तीन दिवसीय प्रशिक्षण का शुभारंभ दिनाँक 28.11.2022 को अपेक्स बैंक के डीजीएम एवं प्रशिक्षण संस्थान के निदेशक श्री भूपेश चंद्रवंशी द्वारा दीप प्रज्ज्वलित कर किया गया। इस अवसर पर श्री भूपेश चंद्रवंशी ने कहा कि हमारे प्रशिक्षण संस्थान द्वारा प्रदेश के सहकारी बैंकों , प्राथमिक सेवा सहकारी समितियों व सहकारी प्रतिनिधियों के लिए नियमित रूप से प्रशिक्षण कार्यक्रम आयोजित किये जायेंगे। बैंक एम्प्लाइज में बैंकिग टेक्नालाजी का ज्ञान व कौशल में वृद्धि हो। बैंकिंग कार्य अधिक व्यवहारिक व सुगम हो, ऐसी हमारी कोशिश होगी कि सतत रूप से गुणवतापूर्ण प्रशिक्षण आयोजित हो सके।

इस प्रशिक्षण समापन अवसर पर प्रशिक्षण संस्थान के उप निदेशक श्री ए. के.लहरे,अपेक्स बैंक एजीएम श्री अरुण पुरोहित, एजीएम श अजय भगत, प्रबंधक सी.पी.व्यास, लेखा अधिकारी प्रभाकर कांत यादव व प्रशिक्षण प्रतिभागीगण उपस्थित रहे। अंत मे प्रशिक्षण संस्थान के प्रशासकीय अधिकारी श्री विमल सिंह द्वारा आभार व्यक्त किया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.