आशा पारेख को मिलेगा फाल्के पुरस्कार, राष्ट्रपति करेंगी सम्मानित

भुवन वर्मा बिलासपुर 27 सितम्बर 2022

अरविन्द तिवारी की रिपोर्ट

नई दिल्ली – गुजरे जमाने की मशहूर अभिनेत्री और द हिट गर्ल के नाम से प्रसिद्ध आशा पारेख (79 वर्षीया) को फिल्म इंडस्ट्री का सर्वोच्च 52वां दादा साहब फाल्के सम्मान से सम्मानित किया जायेगा। सूचना प्रसारण मंत्री अनुराग ठाकुर ने आज इसकी घोषणा करते हुये बताया कि भारतीय सिनेमा को उनके अनुकरणीय योगदान के लिये आशा पारेख को यह सम्मान 30 सितंबर को विज्ञान भवन दिल्ली में 68वां राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार समारोह में महामहिम राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू द्वारा दिया जायेगा। केंद्रीय मंत्री ने आगे बताया कि दादा साहेब फाल्के कमेटी के सदस्यों में मशहूर गायिका आशा भोंसले , अभिनेत्री हेमामालिनी , अभिनेत्री पूनम ढिल्लो और गायक उदित नारायण झा शामिल हैं। इन सभी ने मिलकर कमेटी की बैठक की और आशा पारेख को चुना। गौरतलब है कि आशा पारेख ने 10 साल की उम्र में फिल्मों में काम करना शुरू किया था। उन्होंने सबसे पहले प्रख्यात फिल्म निर्देशक विमल रॉय की ‘मां’ से बॉलीवुड में कदम रखा था। एक बार कलाकार के रूप में अपना केरियर शुरू करते हुये उन्होंने 95 से ज्यादा फिल्मों में काम किया है , जिसके लिये उन्हें कई अवार्ड मिल चुके हैं। वर्ष 1971 में उन्हें फिल्म कटी पतंग के लिये फिल्मफेयर सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री पुरस्कार मिला था। इसके अलावा उन्हें पद्मश्री से भी सम्मानित किया जा चुका है। आशा पारेख भारत के केंद्रीय फिल्म प्रमाणन बोर्ड यानि सेंसर बोर्ड की पहली महिला अध्यक्ष भी रह चुकी हैं। उन्हें फेडरेशन ऑफ इंडियन चैंबर्स ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री ने उन्हें लिविंग लीजेंड अवॉर्ड से भी सम्‍मानित किया है। अब वे फिल्‍मों से दूर मुम्बई में अपनी एक डांस एकेडमी चलाती हैं। इसके अलावा मुंबई के ही सांता क्रूज इलाके में आशा पारेख अस्पताल का भी काम देखती हैं। आशा पारेख की सुपरहिट फिल्‍मों में ‘जब प्यार किसी से होता है’, ‘फिर वही दिल लाया हूं’, ‘तीसरी मंजिल’, ‘बहारों के सपने’, ‘प्यार का मौसम’, ‘कटी पतंग’ और कारवां शामिल हैं। हिंदी फिल्मों के अलावा उन्होंने गुजराती , पंजाबी और कन्नड फिल्मों में भी काम किया है। आशा पारेख ने फिल्मों में अभिनय के अलावा निर्देशक और निर्माता की भूमिका में भी भारतीय सिनेमा को समृद्ध किया। उन्होंने सिनेमा और नृत्यकला प्रेमियों के मन पर एक कुशल भारतीय शास्त्रीय नृत्यांगना के रूप में भी अपनी अमिट डाली है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.