जिला सहकारी बैंक तिल्दा की हालत बद से बदतर : लापरवाह कर्मचारी कमजोर सिस्टम के चलते किसानों को नहीं मिला अब तक एटीएम,बैंक का चक्कर लगाने मजबूर

भुवन वर्मा बिलासपुर 12 अगस्त 2022

रायपुर । छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल जहां एक और किसानों की आय बढ़ाने के लिए तरह-तरह की योजनाएं संचालित कर रहे हैं । वही जिला सहकारी बैंक किसानों को खाद बीज और नगद राशि के लिए बैंकों के चक्कर लगवा कर पस्त कर दिए हैं । छत्तीसगढ़ में किसानों की कृषि कार्य सरलता से संपादित हो इसी भावनाओं के साथ प्रदेश में वर्षों पहले जिला सहकारी बैंकों का गठन किया गया है । वहीं प्रदेश में जिला सहकारी बैंक शाखाओं की व्यवस्था बदतर हालत में है । लापरवाह अधिकारीयों कमजोर सिस्टम के चलते किसान मिलने वाली उपलब्ध सुविधाओं का लाभ नहीं ले पा रहे हैं।
एटीएम सुविधा का लाभ नहीं मिल रहा…

किसानों को 3 साल पहले बैंक का चक्कर न काटना पड़े इस भावनाओं से शासन ने छोटे बड़े सभी किसानों को एटीएम कार्ड दिये थे । लगभग सभी किसानों के वह एटीएम कार्ड मार्च 2022 में एक्सपायर हो चुका है । लापरवाह कर्मचारी कमजोर सिस्टम के चलते आज तक मुश्किल से 50 किसानों की ही जिला सहकारी बैंक तिल्दा एटीएम कार्ड उपलब्ध कराए हैं । संघर्षरत किसान कृषि कार्य के लिए मिलने वाली नगद राशि बैंक में भाउचर से बड़ी मुश्किल से आहरण कर पा रहे हैं । बुजुर्ग अंगूठा लगाने वाले किसानों को कई फेरे बैंक की चक्कर लगानी पड़ रही है । शासन द्वारा कृषि कार्य के लिए मिलने वाली नगद राशि का आहरण नहीं कर पा रहे हैं । वही बैंक अधिकारियों को कहना है, अब अंगूठा लगाने वाले किसानों को एटीएम कार्ड नहीं मिलेगा ।

जिला सहकारी बैंक तिल्दा में 5 हजार के लगभग एटीएम कार्ड चार माह से बोरे में पड़ा हुआ है । जिससे किसानों को वितरित करने का बैंक कर्मचारी एवं अधिकारियों को रुची नहीं है। स्वता ही किसानों द्वारा मांगे जाने पर उन्हें 15 पन्नों के हजारों नाम के लिस्ट वाले 20 सेट थमा दिया जाता है । बैंक कर्मचारी कहते हैं अपना खाता क्रमांक नंबर खोज कर बतावो तभी कार्ड दे पाएँगे । ब्रांच मैनेजर बोधन वर्मा से एटीएम कार्ड वितरण नहीं किए जाने बाबत पूछे जाने पर स्पष्ट जवाब नहीं दे पाए वही जिला सहकारी बैंक रायपुर के सीईओ जोशी जी भी अपने पल्ला झाड़ते हुए तिल्दा ब्रांच मैनेजर से संपर्क करने का रास्ता दिखाते हैं किसानों की समस्या का समाधान किसी के पास नहीं ।
प्रदेश में सबसे ज्यादा बुरी स्थिति रायपुर जिले के जिला सहकारी बैंक तिल्दा शाखा की है । चुनाव के समय लम्बे – लम्बे वादे करने वाले जनप्रतिनिधि भी इस विषम परिस्थिति में किसानों के साथ खड़े नहीं दिख रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.