बिलासपुर शहर में 132KVA विद्युत सब स्टेशन के लिए मंगला में 5.5 एकड़ जमीन का हुआ आबंटन : नगर विधायक शैलेष पांडेय ने अधिकारियों सहित स्थल का किया मुआयना और प्रक्रिया को शीघ्र पूरा करने का दिया निर्देश

भुवन वर्मा बिलासपुर 18 जनवरी 2022

शहर के 1.25 लाख उपभोक्ता को बाधारहित विद्युत आपूर्ति करने का लक्ष्य , पुराने चार सब स्टेशन हुए ओवर्लोडेड – – शैलेष पाण्डेय कम्पनी के चेयरमैन अंकित आनंद ने बताया दो माह में होगा टेंडर

बिलासपुर । विधायक शैलेष पांडेय ने मंगलवार को बहूप्रतीक्षित बिलासपुर शहर के लिए स्वीकृत 132 केवीए विद्युत सब स्टेशन के लिए मंगला में आवंटित 5.5 एकड़ भूमि का मुआयना किया। नगर विधायक ने बताया कि बिलासपुर में बाधारहित विद्युत आपूर्ति करने का लक्ष्य है, शहर में बिजली उपभोक्ताओं की संख्या 1 लाख 25 हजार है बिलासपुर में 5 सब स्टेशन तिफरा, सिलपहरी, मोपका, छतौनी और बिरकोना से 11 केवीए के 102 फिडर से 3500 ट्रांसफार्मर के माध्यम से सप्लाई की जाती है, जबकि बिलासपुर शहरी क्षेत्र के 1.25 लाख उपभोक्ताओं में 20 हजार व्यवसायिक, 85 हजार घरेलू और लगभग 1500 औद्योगिक क्षेत्र में तिफरा सब स्टेशन से सप्लाई की जा रही है।

शहरी क्षेत्र में प्रतिवर्ष 10% बिजली की आपूर्ति बढ़ रही है। नेहरू नगर, शनिचरी और बृहस्पति बाजार क्षेत्र के मिनी सब स्टेशनों में ओव्हर लोड से ट्रिपिंग की समस्या बार-बार होती है, अलग सब स्टेशन से बीच शहर में बिजली सप्लाई करना बिजली विभाग के अधिकारियों के लिए भी परेशानी का कार्य होता है। ऐसी स्थिति को देखते हुए मंगला क्षेत्र में 5.5 एकड़ भूमि पर 132 केव्ही सब स्टेशन का कार्य जल्द शुरू किया जाएगा, जिसके बाद शहर के लोगों को बिजली आपूर्ति में होने वाली की समस्या से निजात मिलेगी,

अधिकारियों ने बताया कि बिजली की कोई कमी नहीं है, लेकिन बारिश, आंधी, आकाशीय बिजली से नुकसान होने के कारण बिजली व्यवस्था बाधित होती है और सुधार में समय लगता है, फीडर फॉल्ट होने के कारण भी बिजली व्यवस्था बाधित होती है। दिन प्रतिदिन उपभोक्ताओं के विद्युत भार वृद्धि से हो रहे विद्युत दबाव को दृष्टिगत रखते हुए बिलासपुर अंतर्गत विद्युत व्यवस्था को बेहतर एवं सुदृढ़ बनाए जाने हेतु 22 करोड़ रुपये की लागत से 132 केव्ही विद्युत सब स्टेशन की स्थापना हेतु 5.5 एकड़ भूमि का आबंटन कर दिया गया है।

नगर विधायक की पहल पर 132 केव्ही सब स्टेशन बिलासपुर को मिला है

विधायक शैलेष पाण्डेय ने बताया कि नए सब स्टेशन की मांग विधानसभा सत्र में किया गया था, साथ ही समस्या को गंभीरता से सरकार का ध्यान आकर्षण भी कराया गया, मुख्यमंत्री भूपेश बघेल से भी मिलकर मांग रखी गई थी, जिसके बाद मुख्यमंत्री ने समस्या को गंभीरता से लेते हुए स्टेशन बनाने की अनुमति प्रदान कर दी थी, इसके 22 करोड़ रुपये स्वीकृत हुए हैं। लेकिन जगह चयनित नही होने के कारण यह कार्य लंबित रहा, पहले सकरी में जगह का चयन किया गया था लेकिन आपत्ति होने के कारण जगह का आवंटन नहीं हो पाया है लेकिन अब मंगला में 5.5 एकड़ जमीन का आबंटन किया गया है। जल्द ही विभागीय प्रक्रिया पूर्ण कर विद्युत सब स्टेशन निर्माण का कार्य प्रारंभ हो जाएगा। नये सब स्टेशन स्थापना के लिए विभागीय प्रक्रिया शीघ्र पूर्ण करने के लिए छत्तीसगढ़ राज्य विद्युत वितरण कंपनी के चेयरमैन अंकित आनंद से फोन पर चर्चा की साथ ही ईडी राजेश श्रीवास्तव को समन्वय के साथ कार्य करने के लिए निर्देशित किया गया है। ताकि कार्य शीघ्र प्रारंभ होकर पूर्ण हो सके और लोगों को बिजली गुल से होने वाली समस्या से निजात मिल सके।

ई. ई सी.पी. अग्रवाल, कार्यपालन यंत्री (शहर) सुरेश जांगड़े, कार्यपालन यंत्री (ग्रामीण) अमर चौधरी, ए.ई सलीम बेग, पार्षद भास्कर यादव, जुगल गोयल भरत कश्यप, रामा बघेल, श्याम पटेल, एल्डरमैन शैलेंद्र जयसवाल, बंटी गुप्ता, दीपांशु श्रीवास्तव सुबोध केसरी, श्याम लाल चंदानी, अजरा खान, सुदेश दुबे, बिट्टू बाजपाई, मोनू अवस्थी, रेहान रजा, अमीन मुगल, विक्की आहूजा, कप्तान खान, सोहराब खान, भरत जूरीयानी, राहुल वाधवानी, सहित अन्य लोग उपस्थित थे

Leave a Reply

Your email address will not be published.