छत्तीसगढ़ स्वामी विवेकानंद तकनीकी विश्वविद्यालय में एक दिवसीय “एंटरप्रेन्योरशिप अवेयरनेस कैंप फॉर सेन्सीटाइजेशन अबाउट एंटरप्रेन्योरशिप प्रोस्पेक्टिव करियर ऑप्शन” पर वर्चुअल कार्यशाला

भुवन वर्मा बिलासपुर 19 जनवरी 2022

भिलाई । छत्तीसगढ़ स्वामी विवेकानंद तकनीकी विश्वविद्यालय में भारत के उद्यमिता विकास संस्थान अहमदाबाद गुजरात के सहयोग से एक दिवसीय “एंटरप्रेन्योरशिप अवेयरनेस कैंप फॉर सेन्सीटाइजेशन अबाउट एंटरप्रेन्योरशिप प्रोस्पेक्टिव करियर ऑप्शन” पर वर्चुअल कार्यशाला का आयोजन किया गया| कार्यक्रम के प्रारंभ में छत्तीसगढ़ स्वामी विवेकानंद तकनीकी विश्वविद्यालय के ई. डी. आई. प्रभारी डॉ मनोज कुमार वर्मा ने ई. डी. आई. इंडिया के बारे में छात्रों एवं अध्यापकों को जानकारी दी| तत्पश्चात वेलकम स्पीच विश्वविद्यालय शिक्षण विभाग के डायरेक्टर डॉ. पी. के. घोष के द्वारा दी गई| छात्रों को ई. डी. आई. इंडिया के प्रोफेसर सत्यरंजन आचार्य ने संबोधित किया| यह कार्यक्रम डॉ. ईश्वर कुमार द्वारा संचालित किया गया| इस कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रुप में विश्वविद्यालय के कुलपति माननीय डॉ. एम. के. वर्मा उपस्थित थे, उन्होंने अपने उद्बोधन में छात्रों को उद्यमिता के महत्व को समझाया| तत्पश्चात विश्वविद्यालय के प्राध्यापक डॉ. उत्तम पुरी गोस्वामी ने धन्यवाद प्रस्ताव दिया| यह कार्यक्रम चार सत्र में आयोजित किया गया, जिसमें प्रथम सत्र में डॉ. जे. बी. पटेल ने एंटरप्रेन्योरशिप से संबंधित विभिन्न चरणों जैसे बिजनेस अपॉर्चुनिटी, सोर्स आफ आइडिया, इत्यादि पर विस्तृत चर्चा की| कार्यक्रम के दूसरे चरण में श्री तुषार वडेरा ने अपने स्टार्टअप “हेडस्टार्ट” से संबंधित जानकारियां साझा की तथा एक स्टार्टअप को कैसे प्रारंभ करें, उसके लिए फंड कहां से प्राप्त करें, इत्यादि के बारे में विस्तार से जानकारी दी| इसके बाद कार्यक्रम के तृतीय चरण में श्री सत्येंद्र श्रीवास्तव डायरेक्टर, एन. आई. बी. एफ. ने उद्यमिता से संबंधित विभिन्न समस्याओं के बारे में चर्चा की, जैसे एक उद्यमिता में उत्पादों की बिक्री और विपणन, मानव संसाधन, वित्तीय प्रबंधन, लीगल लॉ| कार्यक्रम के अंतिम चरण में ई. डी. आई. इंडिया अहमदाबाद गुजरात तथा कार्यक्रम के संचालक डॉ. ईश्वर कुमार ने छात्रों से उद्यमिता और उससे संबंधित विभिन्न स्टार्टअप के बारे में जानकारियां साझा की| प्रत्येक चरण में विश्वविद्यालय के छात्रों ने प्रश्नोत्तर के माध्यम से अपनी शंकाओं का समाधान प्राप्त किया|

Leave a Reply

Your email address will not be published.