पूर्वांचल का एक्स्प्रेस वे क्षेत्र को विकास की नई ऊंचाइयों पर ले जायेगा – प्रधानमंत्री मोदी : एयर स्ट्रिप पर एयर शो में सुखोई-30, सी-130 जे, मिराज, जगुआर व हरक्युलिस हुए शामिल

भुवन वर्मा बिलासपुर 16 नवंबर 2021

अरविन्द तिवारी की रिपोर्ट

सुल्तानपुर – यह एक्सप्रेस वे नये यूपी का एक्सप्रेस-वे है , ये यूपी की संकल्पशक्ति का प्रगटीकरण है , प्रदेश की बढ़ती अर्थव्यवस्था का प्रतीक है। इस पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे की विशेषता सिर्फ यही नहीं है कि यह नौ जिलों को जोड़ेगा बल्कि यह एक्सप्रेस-वे लखनऊ को उन शहरों से भी जोड़ेगा जहां विकास की असीम संभावनायें हैं। यह एक्सप्रेस वे पूर्वांचल के विकास को नई ऊंचाइयां देने वाला साबित होगा , यूपी को तेज गति से बेहतर भविष्य की ओर ले जायेगा। यूपी की जनता को यह पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे समर्पित करते हुये मैं अपने आपको धन्य महसूस कर रहा हूं। जितनी ज़रूरी देश की समृद्धि है उतनी ही ज़रूरी देश की सुरक्षा भी है। अब से कुछ ही देर में यहां से विमानों की गर्जना उन लोगो के लिये होगी जिन्होंने डिफेंस इन्फ्रास्ट्रक्चर को दशकों तक नजर अंदाज किया। प्लेनों की गर्जना उनके कानों तक पहुंचेगी , जो सुरक्षा से खिलवाड़ करते रहे हैं।

उक्त बातें प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे का लोकार्पण कर जनसभा को भारत माता की जय के उद्घोष के साथ संबोधित करते हुये कही। उन्होंने कहा कि हमारे जिन किसान भाई-बहनों की भूमि इसमें लगी है , जिन श्रमिकों का पसीना इसमें लगा है, जिन इंजीनियरों का कौशल इसमें लगा है , उनका भी मैं बहुत-बहुत अभिनंदन करता हूं। इससे पहले पीएम मोदी ने अवधी में अपनी शुरू करते हुये कहा जवने धरती पर हनुमानजी कालनेमि के बध किए रहय , ऊ धरती के लोगन के हम पांव लागित है। 1857 के लड़ाइन मा हियां के लोग अंग्रेजन का छट्‌ठी का दूध याद दिवाय दिहै रहै। कोयरीपुर के युद्ध भला के भुलाय सकत है। आज यह पावन धरती के पूर्वांचल एक्सप्रेस की सौगात मिलत बा। जिहके आप सभै बहुत दिनन से अगोरत रहीं। आप सबका बहुत बहुत बधाई। (जिस धरती पर हनुमानजी ने कालनेमि का वध किया। उस पावन धरती के लोगों का मैं चरण स्पर्श करता हूं। उन्होंने पूर्वांचल एक्सप्रेस वे के लोकार्पण की जनता को बधाई दी।) उन्होंने आगे कहा कि तीन साल पहले जब मैंने पूर्वांचल एक्सप्रेसवे का शिलान्यास किया था तब मैंने नहीं सोचा था कि एक दिन इस एक्सप्रेस – वे पर ही मैं विमान से उतरूंगा भी। यह एक्सप्रेस वे यूपी में आधुनिक होती सुविधाओं का प्रतिबिंब है , प्रदेश में संकल्पों की सिद्धि का जीता-जागता प्रमाण है। उन्होंने कहा कि इस एक्सप्रेस वे का लाभ गरीब को भी होगा और मध्यम वर्ग को भी, किसान की इससे मदद होगी और व्यापारी के लिये भी सुविधा होगी। श्रमिक , उद्यमी , युवा , पिछड़े , किसान , हर व्यक्ति को इसका फायदा होगा। निर्माण के दौरान भी इतने हजारों साथियों को रोजगार दिया और अब शुरू होने के बाद भी लाखों नये रोजगार के निर्माण का माध्यम बनेगा। ये भी एक सच्चाई थी कि यूपी जैसे विशाल प्रदेश में पहले एक शहर दूसरे शहर से काफी हद तक कटा हुआ था. अलग-अलग हिस्सों में लोग जाते तो थे, लेकिन एक-दूसरे शहरों में कनेक्टिविटी न होने से परेशान रहते थे। पूरब के लोगों के लिये लखनऊ पहुंचना भी महाभारत जीतने जैसा होता था। पिछले मुख्यमंत्रियों के लिये परिवार तक ही विकास सीमित था , लेकिन आज जितना पश्चिम का सम्मान है ,उतनी ही पूर्वांचल के लिये भी प्राथमिकता है। ये एक्सप्रेस वे आज यूपी को आपस में जोड़ रहा है , इसके बनने से अवध , पूर्वांचल के साथ-साथ बिहार के लोगों को भी फायदा होगा और दिल्ली से बिहार आना-जाना भी पहले से ज्यादा आसान हो जायेगा। पीएम ने आगे कहा कौन भूल सकता है कि पहले यूपी में कितनी बिजली कटौती होती थी ? यहां कानून व्यवस्था की क्या हालत थी ? कौन भूल सकता है कि यूपी में मेडिकल सुविधाओं की क्या स्थिति थी ? यूपी में हालात ऐसे बना दिये थे कि यहाँ सड़कों पर राह नहीं होती थी , राहजनी होती थी। उन्होंने अखिलेश यादव पर तंज कसते हुये कहा कि यूपी में जिस तरह से राजनीति हुई , जिस तरह से लम्बे समय तक सरकारें चलीं उसने यूपी के सर्वांगीण विकास पर ध्यान नहीं दिया। यूपी का यह क्षेत्र माफियावाद और यहां के लोगों को गरीबी के हवाले कर दिया गया था। उनके कार्यकाल में राज्य के विकास में भेदभाव हुआ और पिछले मुख्यमंत्रियों के लिये यह विकास कुछ परिवारों तक सीमित था। यहां के नागरिकों को गरीबी के हवाले कर दिया गया था। उन्होंने परिवारवाद पर भी निशाना साधा और कहा कि सुल्तानपुर के सपूत श्रीपति मिश्रा का अपमान हुआ था। परिवारवादी लोगों ने उनका जितना अपमान किया वो यूपी के लोग कभी भूल नहीं सकते।पीएम मोदी ने कहा कि यूपी में अब कोई जातिवाद नहीं , कोई क्षेत्रवाद नहीं। सबका साथ सबका विकास के मंत्र के साथ योगी की सरकार काम कर रही है। पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे आज यूपी की इस खाई को पाट रहा है और यूपी को जोड़ रहा है। आज यूपी सरकार योगीजी के नेतृत्व में 22 हजार करोड़ रुपये से ज्यादा खर्च किये हों, लेकिन भविष्य में ये लाखों करोड़ों के उद्योंगों को यहां लाने का माध्यम बनेगा। आज प्रदेश में विकास हो रहा है तो इसका सबसे अधिक लाभ हमारी बहनों-बेटियों को मिल रहा है। बताते चलें कि पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे यूपी का तीसरा रनवे वाला एक्सप्रेस-वे है, जहां लड़ाकू विमान लैंडिंग और टेक ऑफ कर सकेंगे। इससे पहले आगरा एक्सप्रेस-वे और यमुना एक्सप्रेस वे पर लड़ाकू विमान उतर चुके हैं।

पीएम मोदी के संबोधन के बाद एयर शो शुरू हुआ , एयर स्ट्रिप पर एयर शो में कुल 11 विमान अपनी ताकत दिखाये जिनमें सुखोई-30, सी-130 जे , मिराज , जगुआर व हरक्युलिस शामिल थे। सुरक्षा व्यवस्था के मद्देनजर कार्यक्रम स्थल से लगभग दस किलोमीटर का एरिया सुरक्षा घेरे में था।

Leave a Reply

Your email address will not be published.