दूध की मांग हुई डबल सप्लाई में छूट रहा पसीना

27

भुवन वर्मा, बिलासपुर 28 मई 2020

कड़ी शर्तों के साथ स्वीट कॉर्नर और होटलों को कारोबार की अनुमति से डेयरियों में मांग का दबाव, सामान्य होने में कम से कम 2 माह का समय लगने की संभावना

बलोदा बाजार- कड़ी शर्तों के साथ कारोबार की मिली अनुमति के बाद होटल और स्वीट कॉर्नर की मांग से दूध कारोबार में उछाल और परेशानी दोनों देखी जा रही है। उछाल से मांग में इजाफा और परेशानी इस बात की बनने लगी है कि मांग के अनुरूप दूध की आपूर्ति कैसे जल्द बढ़ाई जाए। विभाग ने भी इस काम में मदद की तैयारी शुरू कर दी है लेकिन मानकर चला जा रहा है कि मांग और आपूर्ति के बीच बन चुकी गहरी खाई को पाटने में कम से कम एक माह का समय लग सकता है।
कोरोना संकट के साथ चालू हुए लॉक डाउन के पहले और दूसरे चरण में जो सख्ती दिखाई गई इसका असर दूसरे कारोबार की तरह दुग्ध उत्पादन करने वाली डेयरियों पर भी पड़ा। 70 से 80 हजार लीटर प्रतिदिन दुग्ध उत्पादन वाले इस जिले मैं यह समस्या तेजी से आई कि कारोबार का समय एक झटके में कम कर दिया गया। डेयरियों को शाम को कारोबार की अनुमति नहीं दी गई। सुबह के समय को घटा दिया गया। इसका असर उत्पादित मात्रा के निपटान को लेकर संकट के रूप में सामने आया। समय पर निदान नहीं होने से बचने वाला दूध वापस चारे के साथ दिया जाने लगा। इस बीच विभाग तक पहुंची जानकारी के बाद सलाह जारी हुई कि वह बचा हुआ दूध पशु आहार में डालने से बचें और दही जमा कर घी उत्पादन करें। तब कहीं जाकर स्थिति संभाली जा सकी।

डेयरियों ने उत्पादन घटाया
छोटी डेयरियो ने तो किसी तरह खुद को संभाले रखा लेकिन बड़ी डेयरियां संकट का सामना नहीं कर सकी। घी बनाया लेकिन मांग नहीं निकली। ऐसे में ऐसी डेयरियों ने दुधारू मवेशियों को दी जाने वाली आहार की मात्रा घटानी चालू कर दी। दूध उत्पादन के दूसरे प्राकृतिक उपाय पूरी तरह बंद कर दिए गए। इसका असर दुग्ध उत्पादन की घटती मात्रा के रूप में तेजी से सामने आया। अब यह कुल उत्पादन क्षमता से घट कर आधा पर आ चुका है।

70 नहीं 35हजार लीटर
लॉक डाउन के बढ़ते दिनों के बीच उपजे संकट को देखते हुए होटल और स्वीट कॉर्नरो को कड़ी शर्तों के साथ कारोबार की अनुमति मिली। इससे 2 माह से गोता लगा रही डेयरियों को संजीवनी मिली है। मांग में एक बार फिर से वृद्धि होने लगी है लेकिन सामान्य दिनों में रोजाना 70000 लीटर दूध उत्पादन करने वाले जिले में 35000 लीटर दूध का ही उत्पादन हो रहा है। मांग और आपूर्ति के बीच अंतर की गहरी खाई है और इसे पाटने और सामान्य करने में भी कम से कम एक माह का समय लगने की संभावना है।

धीरे-धीरे बढ़ाएंगे उत्पादन

पशुपालन विभाग मांग और आपूर्ति के बीच बन चुके इस गहरे अंतर पर पूरी गंभीरता के साथ नजर रखे हुए हैं। विभाग का मानना है कि एक बार उत्पादन घटाने के बाद फिर से सामान्य करने में कम से कम 1 से 2 माह का समय लगेगा क्योंकि आहार की मात्रा एकदम से बढ़ाने में मवेशियों का पाचन तंत्र गड़बड़ा सकता है। इसलिए धीरे धीरे ही आहार की मात्रा बढ़ाई जाएगी जिससे दूध का उत्पादन भी बढ़ाने में मदद मिलेगी।

” कड़ी शर्तों के बीच स्वीट कॉर्नर और होटल कारोबार की अनुमति से दूध की मांग में उछाल आया है लेकिन डेयरियां पहले ही उत्पादन घटा चुकी है क्योंकि लॉक डाउन के शुरुआती दिनों में होटल कारोबार की अनुमति नहीं मिली थी। अब इसे सामान्य करने में कम से कम एक माह का समय लग सकता है ” – डा. सी के पांडे सहायक संचालक पशु चिकित्सा सेवाएं बलोदा बाजार।

About The Author

27 thoughts on “दूध की मांग हुई डबल सप्लाई में छूट रहा पसीना

  1. My brother recommended I might like this website. He was entirely right.
    This post truly made my day. You can not imagine just how much time I had spent for this information! Thanks!

  2. Does your website have a contact page? I’m having problems
    locating it but, I’d like to shoot you an e-mail.
    I’ve got some ideas for your blog you might be interested in hearing.

    Either way, great site and I look forward to seeing it improve over time.

  3. Link exchange is nothing else however it is simply placing the other person’s weblog link
    on your page at suitable place and other person will
    also do similar for you.

  4. Very nice post. I just stumbled upon your blog and wanted to say that I have really
    enjoyed browsing your blog posts. After all I will be subscribing to your
    rss feed and I hope you write again soon!

  5. I’m the co-founder of JustCBD label (justcbdstore.com) and I’m presently trying to grow my wholesale side of company. It would be great if someone at targetdomain give me some advice 🙂 I thought that the most ideal way to do this would be to talk to vape stores and cbd stores. I was really hoping if someone could suggest a trustworthy web-site where I can get Vape Shop B2B Data List I am currently looking at creativebeartech.com, theeliquidboutique.co.uk and wowitloveithaveit.com. Not exactly sure which one would be the best solution and would appreciate any assistance on this. Or would it be easier for me to scrape my own leads? Ideas?

  6. I was wondering if you ever considered changing the structure of your site?
    Its very well written; I love what youve got to say.
    But maybe you could a little more in the way of content so people
    could connect with it better. Youve got an awful lot of text for only having
    one or two pictures. Maybe you could space it out better?

  7. When I initially commented I seem to have clicked on the -Notify me when new comments are added- checkbox and now each time a comment is added I get four emails with the same comment. Is there an easy method you can remove me from that service? Thanks a lot!

  8. Hi, I believe your site might be having internet browser compatibility problems. Whenever I look at your site in Safari, it looks fine however, if opening in Internet Explorer, it’s got some overlapping issues. I merely wanted to provide you with a quick heads up! Apart from that, excellent blog!

  9. I think this is among the most significant info for me.

    And i’m glad reading your article. But wanna remark on few general things, The website style is perfect,
    the articles is really nice : D. Good job, cheers

  10. An intriguing discussion is definitely worth comment. I think that you ought to publish more about this subject, it might not be a taboo matter but generally folks don’t talk about such topics. To the next! Kind regards!!

  11. Hello there, There’s no doubt that your blog could possibly be having web browser compatibility problems. When I take a look at your blog in Safari, it looks fine however, when opening in IE, it’s got some overlapping issues. I just wanted to provide you with a quick heads up! Apart from that, great blog!

  12. Spot on with this write-up, I honestly think this amazing site needs a lot more attention. I’ll probably be returning to see more, thanks for the advice!

  13. Having read this I believed it was rather informative. I appreciate you taking the time and effort to put this informative article together. I once again find myself spending way too much time both reading and leaving comments. But so what, it was still worth it!

  14. After checking out a few of the articles on your website, I truly appreciate your technique of blogging. I book-marked it to my bookmark site list and will be checking back in the near future. Please check out my web site too and tell me what you think.

  15. After I originally commented I seem to have clicked the -Notify me when new comments are added- checkbox and now whenever a comment is added I get four emails with the exact same comment. Perhaps there is a way you are able to remove me from that service? Kudos!

  16. I absolutely love your site.. Pleasant colors & theme. Did you build this site yourself? Please reply back as I’m wanting to create my own personal blog and want to find out where you got this from or exactly what the theme is called. Thanks!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *