भुवन वर्मा, बिलासपुर 10 अप्रैल 2020

जगन्नाथपुरी — पूर्वाम्नाय श्रीगोवर्धन मठ पुरी पीठाधीश्वर श्रीमज्जगदुरू-शङ्कराचार्य स्वामी श्रीनिश्चलानन्दसरस्वती जी ने आज कहा है कि भारत के माननीय प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की सतर्कता सर्वथा सराहनीय है। संक्रमण के प्रथम चरण के प्राप्त होते ही ओड़िसा के मुख्यमन्त्री नवीन पटनायक ने जिस सूझ-बूझ ,सतर्कता तथा संयम का सन्देश देशवासियोंको दिया, वह सर्वथा सराहनीय और अनुकरणीय है।देश, काल तथा परिस्थिति को ध्यान में रखकर जो नवीन कदम उन्होंने राज्य स्तर पर उठाया है, वह भी अपेक्षित की पूर्ति ही मान्य है।

इस सन्दर्भ में यह ध्यान रखना आवश्यक है कि समस्या का समाधान भीषण समस्या सिद्ध ना हो। मठ- मन्दिर आर्थिक विपन्नता के ग्रास ना बनें। गोवंश तथा विविध पशु-पक्षी अन्न-जलादि के विना उत्पीड़ित ना हों। श्रमिक तथा आर्थिक विपन्नता से त्रस्त मनुष्य स्वयं को अरक्षित न समझें। स्वयंसेवक, पुलिस , चिकित्सक आदि सेवापरायण रहते हुये निरोग रह सकें। मानवोचित शील की सीमा में स्नेह, सम्मान तथा सुविधा के विविध प्रकल्प क्रियान्वित हों अराजकतत्व शोषक तथा घातक सिद्ध ना हों। सक्रमण में हेतु भूत तथ्यों की सूक्ष्मता से समीक्षा हो। इस सङ्क्रमण काल के समाप्त होते ही सुसंस्कृत, सुशिक्षित, सुरक्षित, सम्पन्न, सेवापरायण, स्वस्थ, सर्वहितप्रद व्यक्ति तथा समाज की संरचना- राजनीति की सनातन शास्त्र सम्मत इस परिभाषा का क्रियान्वयन प्रारम्भ हो। जीवनधन सूर्य के नमस्कार से तथा उनकी रश्मियों के सेवन से प्राप्त विभीषिका का निवारण शीघ्र सम्भव है।

अरविन्द तिवारी की रपट

Leave a Reply

Your email address will not be published.