भुवन वर्मा, बिलासपुर 09 अप्रैल 2020

अयोध्या — श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट ने अपना लोगो जारी कर दिया है। इस लोगो को देखकर श्रीमज्जगद्गुरू शंकराचार्य स्वामी स्वरूपानंद सरस्वती के कृपापात्र शिष्य एवं रामालय ट्रस्ट के सचिव स्वामी अविमुक्तेश्वरानंद सरस्वती जी महाराज ने उस पर कुछ आपत्तियाँ जताते हुये श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट अयोध्या के अध्यक्ष को पत्र लिखकर कहा है कि हनुमान जयंती के पावन अवसर पर श्री राम जन्मभूमि तीर्थक्षेत्र ट्रस्ट के लोगों को सार्वजनिक किया गया जिसे मीडिया के माध्यम से हमें भी देखने का अवसर मिला , इस लोगों में हमें कुछ आपत्तियांँ हैं। सर्वप्रथम लोगों में जो ध्येयवाक्य वाक्य लिखा है ” रामो विग्रहवान धर्म:” इसमें बहुत बड़ी त्रुटि है जिसे एक क्षण भी नहीं चलाया जा सकता। राम को अधर्म कहना निश्चित रूप से ना तो आप को अभीष्ट होगा और ना ही हमें। इसलिये तुरंत न के अंदर से अ को हटाकर न को हलन्त “न्” लिखते हुये उसे “रामो विग्रहवान् धर्म:” ऐसा लिखा जाना चाहिये।

दूसरी आपत्ति लोगों में हनुमान को भी स्थान दिया गया है। हनुमान जी श्रीराम जी के अनन्य भक्त हैं उनका बड़ा महत्व है। लेकिन जन्मभूमि में जहांँ श्रीराम का जन्म प्रसंग है वहांँ पर हनुमान जी का चित्र लोगों में रखने का कोई औचित्य नहीं आता। यदि रखना भी है तो एक हनुमान रखना चाहिये जबकि लोगों में हनुमान जी के दो दो चित्र दिखाई पड़ रहे हैं। तीसरी आपत्ति यह है कि लोगों के बीच में श्रीराम जी का धनुषबाण धारी चित्र मुकुटमंडित करके लगाया गया है। प्रश्न यह है कि जन्मभूमि में धनुषबाण धारण करने वाले वीर राम का क्या औचित्य है? और फिर राम जन्मभूमि का मुकदमा भी वीर राम ने नहीं बल्कि बाल राम ने “रामलला” ने लड़ा है। रामलला ने जिस मुकदमे को लड़कर विजय प्राप्त की , जब उनका ट्रस्ट बन रहा है तो उसमें युवा राम या वीर राम को दिखाया जा रहा है जो कि कहीं से भी उचित नहीं है। इस लोगों में बाल राम “रामलला” का चित्र होना चाहिये। चूकि बालक अकेले नहीं दिखाया जाता अपनी माता के साथ उसको प्रदर्शित किया जाता है इसलिये माता कौशल्या की गोद में रामलला को दिखाया जाना चाहिये। चौथी आपत्ति जो आभामंडल बनाया गया है उसमें कहा गया है कि वह सूर्यवंश का प्रतीक है सूर्य को दिखाया गया है। लेकिन जिस तरह से प्रदर्शित किया गया है सूर्य की किरणें उसमें कम दिखाई पड़ रही है और आग की लपटें ज्यादा दिखाई दे रही है। ऐसा लग रहा है कि जैसे श्रीराम जी आग की लपटों के बीच घिरे हुये हैं। रामालय ट्रस्ट के सचिव ने आगे लिखा है आशा है कि हमारी इन आपत्तियों को अन्यथा ना लेते हुये इस पर सहृदयता पूर्वक गहन विचार करेंगे और तदनुसार लोगों में संशोधन कर पुनः उसे संशोधित रूप में जारी करेंगे।

अरविन्द तिवारी की रपट

11 Comments

  1. no g

    June 21, 2020 at 4:45 pm

    Hello there, I discovered your web site via Google whilst looking for a
    similar matter, your web site came up, it seems great. I’ve bookmarked it in my google bookmarks.

    Hello there, simply changed into alert to your
    blog through Google, and found that it is really informative.
    I am going to be careful for brussels. I will
    be grateful when you continue this in future. A lot of other folks
    shall be benefited from your writing. Cheers!

    Reply

  2. https://tinyurl.com/rsacwgxy g

    June 23, 2020 at 1:48 am

    Wonderful blog! I found it while surfing around on Yahoo News.
    Do you have any tips on how to get listed in Yahoo News?
    I’ve been trying for a while but I never seem to get
    there! Cheers

    Reply

  3. cbd cartridge

    July 18, 2020 at 8:08 pm

    I’m the co-founder of JustCBD Store brand (justcbdstore.com) and am trying to develop my wholesale side of company. It would be great if anybody at targetdomain can help me . I thought that the very best way to accomplish this would be to connect to vape stores and cbd stores. I was hoping if anybody at all could suggest a trusted web-site where I can purchase Vape Shop Business Data I am already looking at creativebeartech.com, theeliquidboutique.co.uk and wowitloveithaveit.com. Unsure which one would be the most ideal selection and would appreciate any advice on this. Or would it be easier for me to scrape my own leads? Suggestions?

    Reply

  4. web hosting company

    July 26, 2020 at 4:29 am

    Hi there! I just wish to offer you a huge thumbs up for your great information you’ve got right here on this post.
    I am returning to your blog for more soon.

    Reply

  5. Ef Deco

    July 29, 2020 at 4:50 am

    I couldn’t refrain from commenting. Well written!

    Reply

  6. Remote Fill System

    July 30, 2020 at 4:18 pm

    You have made some decent points there. I looked on the net for more information about the issue and found most individuals will go along with your views on this website.

    Reply

  7. adreamoftrains content hosting

    July 30, 2020 at 5:48 pm

    What’s Happening i am new to this, I stumbled upon this I’ve discovered
    It absolutely helpful and it has aided me out loads.

    I’m hoping to give a contribution & help other users like its helped me.
    Great job. adreamoftrains web host

    Reply

  8. Ar Salaan

    July 30, 2020 at 10:08 pm

    I blog quite often and I truly appreciate your information. The article has really peaked my interest. I’m going to bookmark your site and keep checking for new information about once a week. I subscribed to your RSS feed as well.

    Reply

  9. YouTube video maker

    August 1, 2020 at 8:27 pm

    Next time I read a blog, I hope that it does not fail me as much as this one. I mean, I know it was my choice to read, however I really believed you’d have something useful to talk about. All I hear is a bunch of crying about something that you could fix if you were not too busy looking for attention.

    Reply

  10. Aastro Roofing

    August 1, 2020 at 10:14 pm

    Greetings! Very useful advice within this article! It’s the little changes that will make the most significant changes. Many thanks for sharing!

    Reply

  11. Short Sales Experts

    August 3, 2020 at 8:34 am

    This web site definitely has all the info I needed about this subject and didn’t know who to ask.

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published.