जेल विभाग का स्थानांतरण सिर्फ कागजो में : जेल अधीक्षक दिखा रहे शासन व मुख्यालय के आदेश को ठेंगा, स्थानांतरित जवान परेशान

भुवन वर्मा बिलासपुर 26 अक्टूबर 2022

बिलासपुर । छत्तीसगढ़ के विभिन्न विभागों में लम्बे समय से एक ही जगह पर टिके मठधीश कर्मचारियों का स्थानांतरण शासन द्वारा लगातार किया जा रहा है, इसी अनुक्रम में जेल विभाग में भी सैकड़ो अधिकारी कर्मचारियों का स्थानांतरण शासन प्रशासन स्तर पर किया गया है लेकिन मलाईदार जिलों में लम्बे समय से कुंडली मारकर बैठे कुछ रसूखदार अधिकारी कर्मचारी जेल अधीक्षकों के साथ मिलकर स्थानांतरण आदेश को ठेंगा दिखाते हुये नजरअंदाज कर रहे हैं।

सेन्ट्रल जेल बिलासपुर से संपर्क करने पर सहायक जेलर श्री ए के बाजपेयी ने गोलमोल जवाब देते हुये बताया की हमारे यहाँ रिलीवर नहीं आये हैं इसलिये बिलासपुर जिले से स्थानांतरित सिपाहियों को रिलीफ नहीं किया है। यहाँ पर आपको बताते चले की रिलीवर वाली आदेश ट्रायबल क्षेत्र के जिलों के लिये किया गया है बाकी जिले के अधीक्षकों को तत्काल रिलीव कर देना था, क्योंकि जब यहाँ के सिपाही जायेंगे तभी तो ट्रायबल क्षेत्र के सिपाही रिलीव हो पाएंगे लेकिन इस मामले में अधीक्षकों की क्या मंशा हैं समझ से परे हैं।

ट्रायबल क्षेत्र वाले भी ट्रायबल क्षेत्र जाने से कतराते हैं

आमतौर पर देखा जाता है की शहरी क्षेत्र के रहने वाले कर्मचारी ट्रायबल एरिया या गावों में नहीं जाना चाहते लेकिन यहाँ तो ट्रायबल क्षेत्र में पले बढ़े कर्मचारी भी शहरी क्षेत्र में ऐसे लीन हो गये हैं की अब वे भी ट्रायबल क्षेत्र में नहीं जाना चाहते जो सबसे बड़ी दुर्भाग्य की बात है, और शायद इसलिए ये जेल अधीक्षकों से सेटिंग करके रिलीव नहीं हो रहें हैं अब देखना ये है कि शासन और प्रशांसन इस पर क्या एक्शन लेती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.