विवेकानंद तकनीकी विश्वविद्यालय में स्वामी विवेकानंद जयंती के उपलक्ष में राष्ट्रीय युवा दिवस का आयोजन : “दिन में एक बार अपने आप से बात करें, नहीं तो आप दुनिया के किसी बुद्धिमान व्यक्ति से मिलने से चूक सकते हैं”- स्वामी

भुवन वर्मा बिलासपुर 13 जनवरी 2022

भिलाई । छत्तीसगढ़ स्वामी विवेकानंद तकनीकी विश्वविद्यालय में स्वामी विवेकानंद जयंती के उपलक्ष में राष्ट्रीय युवा दिवस का आयोजन किया गया| इसके तहत सर्वप्रथम विश्वविद्यालय के कुलपति माननीय एम के वर्मा के द्वारा विश्वविद्यालय प्रांगण में स्थित विवेकानंद की मूर्ति का माल्यार्पण किया गया| तत्पश्चात माननीय कुलपति महोदय ने अपने उद्बोधन में स्वामी विवेकानंद जी के विचारों को अपने जीवन में आत्मसात करने के लिए विश्वविद्यालय के समस्त प्राध्यापकगण एवं कर्मचारियों को प्रेरित किया| उन्होंने उनके महान विचार “दिन में एक बार अपने आप से बात करें, नहीं तो आप दुनिया के किसी बुद्धिमान व्यक्ति से मिलने से चूक सकते हैं” को अपने जीवन में उतारने की प्रेरणा दी| इसके बाद नवनिर्मित विश्वविद्यालय शिक्षण विभाग में आगे का कार्यक्रम संपन्न हुआ, जिसके तहत दीप प्रज्ज्वलन एवं सरस्वती वंदना से कार्यक्रम का शुभारंभ हुआ|

कार्यक्रम में उपस्थित मीडियाकर्मियों से माननीय कुलपति महोदय ने विश्वविद्यालय के विकास एवं भविष्य की योजनाओं से संबंधित प्रश्नों के उत्तर दिए, जिसमें विश्वविद्यालय में इस वर्ष प्रारंभ किए गए बी. टेक ऑनर्स इन कंप्यूटर साइंस एंड इंजीनियरिंग (आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस एंड डाटा साइंस) कोर्स के बारे में जानकारी दी, साथ ही चार साल के कोर्स के बाद इन बच्चों को ट्रेंड करके राष्ट्रीय एवं अंतरराष्ट्रीय स्तर पर बड़ी-बड़ी कंपनियों में प्लेसमेंट उपलब्ध कराने के बारे में बताया | स्कूलों के बच्चों के लिए परामर्श प्रकोष्ठ के प्रश्न पर माननीय कुलपति जी ने भविष्य में 50 गांव के स्कूलों को गोद लेकर वहां परामर्श प्रकोष्ठ स्थापित करने की योजना पर विस्तृत चर्चा की| साथ ही विश्वविद्यालय के राष्ट्रीय सेवा योजना के तहत 42 गोद ग्राम को बढ़ाकर भविष्य में 100 गोद ग्राम करने की प्रतिबद्धता जताई| इस मौके पर विश्वविद्यालय के रजिस्ट्रार डॉ. के. के. वर्मा, विश्वविद्यालय के यूटीडी कोऑर्डिनेटर डॉ. आशीष पटेल और विभिन्न विभागों के एचओडी, प्राध्यापकगण, कर्मचारीगण उपस्थित थे । अंत में धन्यवाद प्रस्ताव विश्वविद्यालय शिक्षण विभाग के निदेशक डॉ. पी. के. घोष एवं मंच संचालन डॉ. श्रीमती प्रतिभा कुरूप सहायक प्राध्यापक रसायन विभाग द्वारा किया गया|

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *