भारत के विश्वगुरु बनने की राह में विश्वरंग महत्वपूर्ण – राज्यपाल अनुसुइया उइके : रविंद्र नाथ टैगोर विश्वविद्यालय एवं डॉ सी वी रमन विश्वविद्यालय  द्वारा आयोजित विश्वरंग 2022 साहित्य महोत्सव का हुआ समापन

भुवन वर्मा बिलासपुर 266 नवंबर 2022

संस्कृति मंत्री, मप्र उषा ठाकुर, लोक स्वास्थ्य एवं कल्याण विभाग मंत्री, मप्र श्री प्रभूराम चौधरी भी समापन में हुए शामिल

बिलासपुर/ रविंद्र नाथ टैगोर विश्वविद्यालय एवं डॉक्टर सी वी रमन विश्वविद्यालय बिलासपुर द्वारा भोपाल में आयोजित सात दिनों तक चले साहित्य, कला और संस्कृति के संगम विश्व रंग का रंगारंग व आतिशी समापन हुआ। इस अवसर पर मुख्य अतिथि के रूप में छत्तीसगढ़ की राज्यपाल माननीय सुश्री अनुसूइया उइके,  मध्य प्रदेश की संस्कृति मंत्री, उषा ठाकुर, एवं मध्य प्रदेश के लोक स्वास्थ्य एवं कल्याण विभाग मंत्री  प्रभूराम चौधरी एवं विश्वरंग के निदेशक संतोष चौबे एवं विश्वरंग परिवार के सभी सदस्य उपस्थित रहे।

कार्य़क्रम में  मुख्य अतिथि माननीय अनुसूइया उइके ने कहा कि विश्वरंग आयोजन में देश दुनिया की कला, संस्कृति और साहित्य का संगम हुआ है। साहित्य एवं संस्कृति के इस वैश्विक आदान प्रदान से भारतीय युवाओं को भी भारत के साथ दुनिया की संस्कृति का ज्ञान होगा। भारतीय संस्कृति की विशेषताओं को यह आयोजन दर्शाता है। सही मायने में सामाजिकता, कला, संस्कृति के मूल्यों को युवा स्वीकार कर सकें। यह दायित्व साहित्यकारों का है। उन्होंने कहा कि 21वीं सदी में भारत के विश्वगुरु बनने की राह में विश्वरंग महत्वपूर्ण कदम है. उन्होंने बताया की मैंने अपने जीवन में अब तक कला, संस्कृति एवं साहित्य पर केंद्रित ऐसा कार्यक्रम न कभी देखा है न कभी सुना है। राज्यपाल ने अपने पुराने दिनों को याद करते हुए कहा कि मैं पहली बार इसी सदन (मिंटो हॉल) में विधायक बनकर आई थी, और आज राज्यपाल के लिए शामिल हो रही हूं। यह सदन मेरे लिए मंदिर है।
संस्कृति मंत्री, मप्र उषा ठाकुर ने कहा कि कई सदियों में संतोष चौबे जैसे महान विभूतियों का जन्म होता है। टैगोर के नाम पर इतना कार्य करना सराहनीय है। कला, संस्कृति साहित्य के संरक्षण एवं संवर्धन की दिशा में काम करने के लिए टैगोर स्वयं भी आशीर्वाद दे रहे हैं जिसका माध्यम संतोष चौबे हैं।
लोक स्वास्थ्य एवं कल्याण विभाग मंत्री, मप्र श्री प्रभूराम चौधरी ने कहा कि विश्वरंग जैसे आयोजन से वैश्विक स्तर पर भाषाओं के साथ संवाद स्थापित होता है। उन्होंने कहा कि विश्वरंग खुशियां का रंग भरने वाला आयोजन है। यह भारतीय कला संस्कृति एवं साहित्य को विश्व पटल पर ले जाएगा।
विश्वरंग की सह-निदेशक डॉ. अदिती चतुर्वेदी वत्स ने पुस्तक यात्रा से लेकर विश्वरंग के समस्त कार्यक्रमों की विस्तार से जानकारी महामहीम को दी। गेट सेट पेरेंट के चिल्ड्रंस लिटरेचर आर्ट एंड म्यूजिक फेस्टिवल की निदेशक डॉ. पल्लवी राव चतुर्वेदी ने बाल महोत्सव की पूरी जानकारी दी और बच्चों के उत्साह को रेखांकित किया। विश्वरंग के सह-निदेशक डॉ. सिद्धार्थ चतुर्वेदी ने आभार प्रकट किया।

*एशिया का सबसे बड़ा साहित्यिक आयोजन -गौरव*

इस अवसर पर डॉक्टर सी वी रमन विश्वविद्यालय के कुलसचिव गौरव शुक्ला ने कहा कि कला साहित्य और संस्कृति को लेकर यह एशिया का सबसे बड़ा और भव्य आयोजन है, जिसमें की इस वर्ष 50 से अधिक देशों के प्रतिनिधिमंडल शामिल हुए . अपनी कला साहित्य संस्कृति और भाषाओं का आदान प्रदान किया. ऐसे आयोजन वैश्विक स्तर पर भारत को एक विशिष्ट पहचान देते हैं.

*कला संस्कृति साहित्य पर आयोजन करने वाला पहला विश्वविद्यालय -कुलपति*

इस अवसर पर डॉक्टर सी वी रमन विश्वविद्यालय के कुलपति प्रोफेसर रवि प्रकाश दुबे ने कहा कि कला, संस्कृति, साहित्य पर वैश्विक स्तर पर आयोजन करने वाला यह देश का पहला विश्वविद्यालय है. अपने शैक्षणिक कार्य के साथ- साथ भारतीय भाषाओं पर केंद्रित वैश्विक विमर्श के लिए या खुला मंच है.

*अगले साल नऐ रंग और नई ऊर्जा के साथ होगा- संतोष चौबे*

विश्वरंग विश्व के निदेशक संतोष चौबे ने कहा कि लेबर नए रंगों के साथ नई ऊर्जा के साथ नई उपलब्धियों के साथ और नए सांस्कृतिक आदान-प्रदान को लेकर हम आपके बीच होंगे उन्होंने विश्व रंग मी हुए आयोजन के बारे में विस्तार से जानकारी दी.

इन्होंने दी प्रस्तुति,,,,,बॉलीवुड बैंड और फोक सिंगर पाऑन ने विश्व रंग में संगीत प्रस्तुति दी, शहनाई वादक याकूब अली, बांसुरी वादक संतोष संत, हबीब तनवीर के गीतों की प्रस्तुति, शिल्पा राव पूर्वा नरेश द्वारा निर्देशित नाटक बंदिशें  कहीं देश के बड़े कलाकारों ने प्रस्तुति दी.

इन्होंने की शिरकत

विचारक पवन वर्मा डॉ विनय सहस्त्रबुद्धे शिक्षाविद डॉ मुकुल कानिटकर पूर्व आईएएस मनोज श्रीवास्तव लेखक प्रतिभा राय पंकज सुबीर , प्रज्ञा रोहणी,  मुशायरे में.. सीन फॉक ,नुसरत मेहंदी,, सहित देश के बड़े कलाकारों ने  शिरकत किये ।

Leave a Reply

Your email address will not be published.