अखबार हाकरों को मिले श्रमवीरों का दर्जा: रेखचंद जैन
संसदीय सचिव ने मुख्यमंत्री भूपेश को लिखा पत्र

भुवन वर्मा बिलासपुर 12 जनवरी 2022


जगदलपुर। संसदीय सचिव व स्थानीय विधायक रेखचन्द जैन ने संवेदनशील मुख्यमंत्री भूपेश बघेल व प्रदेश के श्रम मंत्री शिव डहरिया को पत्र लिखकर अखबार बांटकर पढ़ाई करने वाले हजारों हाकरों को श्रम कल्याणकारी योजनाओं का लाभ दिए जाने के संदर्भ में पत्र लिखे हैं। उन्होंने कहा कि ऐसा कर हम शिक्षा के प्रति गंभीर युवकों को और प्रोत्साहित कर सकते हैं।

मुख्यमंत्री एवम श्रम मंत्री को लिखे अपने पत्र में संसदीय सचिव ने कहा है कि समाचार पत्र को जनमत संग्रह का सशक्त माध्यम माना जाता है लेकिन समाचार पत्र बांटने वाले हाकर आज भी अपेक्षित सुविधाओं के मोहताज हैं। सर्दी हो या बरसात हर मौसम में सुबह-सुबह अखबार बांटने वाले हाकरोँ को न तो प्रेस मालिकों से कोई सुविधाएं मिली न एजेंटों से। हजारों हाकर्स सुबह- सुबह अखबार बांट कर अपना पढ़ाई खर्च निकाल रहे हैं । ऐसे मेहनतकश युवकों को शिक्षा के प्रति उत्साहित करने तथा श्रमवीर मानते हुए श्रमवीरों की तरह इन्हें भी नि:शुल्क साईकिल उपलब्ध कराने, प्रत्येक हाकर का बीमा कराने, आवश्यकता अनुसार शिक्षण सामग्री उपलब्ध कराने तथा सरकारी अस्पतालों में नि:शुल्क चिकित्सा सुविधा उपलब्ध कराना चाहिए। संसदीय सचिव ने बताया कि समाज में ऐसे कई व्यक्ति हैं, जिन्होंने अखबार बांट कर पढ़ाई की और आज विभिन्न शासकीय पदों पर आसीन हैं। भारत के लोकप्रिय राष्ट्रपति महामहिम एपीजे अब्दुल कलाम ने भी अपनी किशोरावस्था में अखबार बांटकर पढ़ाई की थी और देश के सर्वोच्च राष्ट्रपति पद तक पहुंचे। आज पूरी दुनिया में वे मिसाइल मैन के नाम से विख्यात हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *