फुटकर किराना व्यापारियों की मनमानी से आम जनता त्रस्त: जिला प्रशासन की मौन सहमति आम लोगों के समझ से परे

0

फुटकर किराना व्यापारियों की मनमानी से आम जनता त्रस्त: जिला प्रशासन की मौन सहमति आम लोगों के समझ से परे

भुवन वर्मा बिलासपुर 13 मई 2021

बिलासपुर । वर्तमान वैश्विक महामारी काल में आपदा को अवसर में बदलने में अग्रणी प्राइवेट कोविड- हॉस्पिटल, किराना दुकान, मेडिकल स्टोर रहे हैं । वही इस आपदा काल में आम लोगों को लूटने में सबसे अग्रणी रहे हैं । निजी कोविड हॉस्पिटल के बाद सबसे ज्यादा आपदा को अवसर किराना कारोबारी बनाये हैं , किराना कारोबारियों के यहां रोज दीपावली हो रही है । छत्तीसगढ़ प्रदेश के लगभग हर शहर कस्बा गांव में किराना व्यापारियों की लूट मची हुई है । निजी अस्पतालों के बाद आम जनता को सबसे ज्यादा किराना व्यापारी लूट मचा के रखे हैं । ज्ञात हो कि शहर के किराना दुकान को सुबह 7:00 से दोपहर 2:00 बजे तक होम डिलीवरी की छूट दी गई है लेकिन लोगों को सामान लेने दुकान पर आना पड़ रहा है दुकानदार की मनमानी की पूरे शबाब पर है । वही किराना दुकानदार लोगों की मजबूरी का भरपूर फायदा उठा रहा है सामानों की अनुपलब्धता बताकर सभी सामानों को 20 से ₹50 अतिरिक्त दर पर बेच रहे हैं ।
थोक व्यापारियों से महंगा दर पर सामान मिलने की बात कह कर कर छोटे बड़े सभी सामानों में अतिरिक्त मुनाफा कमा रहे हैं । किराना व्यापारी सामान्य खाने के तेल जो 125₹ में मिलने वाला पाउच अभी 170₹ में दे रहे हैं । दहशत व कमी बताकर आम लोगों को राशन समान बेच रहे हैं । किराना व्यापारी का एक ही जवाब बड़ी मुश्किल से लाया हूं थोक बाजार में कहीं नहीं मिल रहा है । यही हाल हल्दी मिर्च धनिया साबुन सोडा बिस्किट मैगी में भी अनुपलब्धता बताकर मनमाने भाव जनता को लूट रहे हैं ।

शासन प्रशासन पर इनके ऊपर कहीं कंट्रोल नहीं है । चाहे जिस रेट में बेचे सामान उनका है ,मजबूरी है आम जनता को इस लोकडॉउन में राशन खरीदना ।

About The Author

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed