श्री राम केयर हॉस्पिटल गैंगरेप प्रकरण : पीड़िता युवती ने बलात्कारी दो वार्ड बॉय को पहचानी, पुलिस के लिए जाँच होती जा रही है कठिन

10

भुवन वर्मा बिलासपुर 16 जून 2020

बिलासपुर। श्री राम केयर अस्पताल गैंग रेप मामले में सोमवार को नया मोड़ आ गया। पीड़ित युवती ने आरोपी वार्ड बॉय की शिनाख्त कर दी। 18 मई को जहर सेवन के बाद श्री राम केयर अस्पताल में भर्ती कोनी क्षेत्र की इंजीनियरिंग छात्रा के साथ 21 और 22 मई की दरमियानी रात 2 वार्ड बॉय द्वारा आईसीयू में गैंग रेप करने की शिकायत दर्ज की गई थी, लेकिन युवती की हालत ऐसी नहीं थी कि वह बयान दे सके, हालांकि युवती ने इसकी जानकारी अपने पिता को लिख कर दी थी । हंगामा मचने के बाद पीड़ित युवती का इलाज अपोलो अस्पताल में चला।

इसी बीच नायब तहसीलदार तुलसी मंजरी साहू के समक्ष मजिस्ट्रेट बयान में भी पीड़ित युवती ने अपने साथ बलात्कार होने की बात कही थी, लेकिन पीड़ित युवती के परिजन कह रहे थे कि उसकी हालत अभी खराब है जिस कारण आरोपियों की शिनाख्त नहीं हो पा रही थी। इसी बीच यह खबर भी फैल गई कि पीड़ित युवती के पिता को नका मुंह बंद करने को 4 लाख रुपये देने का ऑफर किया गया है। जिसके बाद पुलिस ने हड़बड़ी दिखाई और सोमवार को दोनों वार्ड बॉय की शिनाख्त कराई गई। पीड़ित युवती ने दोनों वार्डबॉय को पहचान लिया और कहा कि उन्होंने ही उसके साथ बलात्कार किया था, जिसके बाद उन्हें हिरासत में ले लिया गया। लेकिन श्री राम केयर अस्पताल के डॉक्टर अमित सोनी शुरू से ही मामले को संदिग्ध बता रहे हैं । उन्होंने कहा था कि युवती उस वार्ड वालों को भी दोषी करार दे रही है जो उस दिन ड्यूटी पर ही नहीं था ।

हैरानी इस बात की है कि पीड़ित युवती ने जिस वार्डबॉय को पहचाना है उसमें वह युवक भी शामिल है। इसलिए पुलिस के लिए अब भी मामला जांच का विषय है और पुलिस अभी भी किसी नतीजे पर नहीं पहुंच पायी है। मामले में सीसीटीवी फुटेज भी अहम सुराग होंगे, पुलिस पर आरोप लग रहे थे कि पुलिस पीड़ित युवती का बयान नहीं ले रही और आरोपियों की शिनाख्त नहीं कराई जा रही। पुलिस ने सोमवार को यह दोनों काम तो पूरे कर लिए अब देखना होगा कि इस मामले में आगे क्या कार्यवाही होती है।

About The Author

10 thoughts on “श्री राम केयर हॉस्पिटल गैंगरेप प्रकरण : पीड़िता युवती ने बलात्कारी दो वार्ड बॉय को पहचानी, पुलिस के लिए जाँच होती जा रही है कठिन

  1. https://bjdkgfsfhidhgvudbfjeguehfwhsfug.com
    Mkfdkfjwsldjeifgheifnkehgjr
    vndkfhsjfodkfc;sjgjdgokrpgkrp
    bndljgoedghoekfpegorig
    fihfowhfiehfoejogtjrir
    Yndkfvhdjkfhke nkfnslkfn klfnklf
    Oljgvkdfkndjvbgdjffsjdnkjdhf

    Nkfhofjeojfoegoero ogeoegfeougeihigoohge igjeigheiogheiogheih giehdgoiehifoehgioheighe hfioeehfieohgeiodgnei hioehgioehfdkhgioehgi eodghioedhgieghiehgeuo
    Nihdigheifjojfieui iihfishfiwsfhiwhfowhfh hfsdfhkdcndjkfhe klchsiofhwifhdvjdnj hkfhsfhifheuhguegheflkhe
    Yfhsfheifhei hfhdfiehfiejfk fjeogjeogj ojgoedjodjvsclksfhszghLhekjb; ;dh jdjvndkjdfjsofjsofjosjfi fojsjdoskfsjfodgjdsghoi sdjfpfgspegjsodjvdhvgisd
    Mfjefjojgidhvshg ihidhgiodhgirhgir hioihgdioghrigrigh ihgiogherihgirodvdks jsdjfsopejfovgjdksjosj joesjfoesjfsj;ifsjg
    Ndjsfhjifekfhekdghior highdiofhidogheioghei gijhgoiehgiehgieh jfiheigheihgioe

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *