नए सांसदों से छत्तीसगढ़ी छात्र संगठन को उम्मीद मिल जुल के छत्तीसगढ़ी को आठवीं अनुसूची मे जरूर शामिल कराएंगे

1

भुवन वर्मा बिलासपुर 03 जून 2024

रायपुर।एम ए छत्तीसगढ़ी छात्र संगठन को नए चुन कर संसद तक पहुंचने वाले से छत्तीसगढ़ी भाषा को लेकर बहुत उम्मीद जुडी हुई है. छात्र संगठन के प्रदेश अध्यक्ष ऋतुराज साहू ने कहा की वर्तमान सिक्छा मंत्री बृजमोहन अग्रवाल पिछले रमन सरकार व इसलिए बार प्रदेश के संस्कृति मंत्री रहे है उन्होंने ही 2007 मे छत्तीसगढ़ी को राजभाषा का दर्जा दिलाया था लगातार प्रदेश मे छत्तीसगढ़ी भाषा को आगे बढ़ाने का कार्य किया है जाहिर है वो रायपुर से सांसद चुने जाने के बाद छत्तीसगढ़ी भाषा को लेकर संसद मे आवाज बुलंद करेंगे इसके साथ ही पूर्व मुख्यमंत्री भूपेश बघेल पांच शाल छत्तीसगढ़िया वाद को लेकर काम किये जाहिर है छत्तीसगढ़ी भाषा संस्कृति को लेकर संसद मे मजबूती के साथ बात रखेंगे..उन्होंने अपने मुख्यमंत्री कार्यकाल मे 20अगस्त 2022 को विधानसभा मे विदेयक पारित कर छत्तीसगढ़ी को आठवीं अनुसूची मे शामिल करने पीएम को चिट्टी भी भेजा था.

कोरबा से चुनाव लड़ रही सरोज पांडे पूर्व मे लोकसभा और राज्यसभा सांसद रही तो छत्तीसगढ़ी को आठवीं अनुसूची मे शामिल करने हेतु अनुरोध की थी इसलिए बार जितने के बाद वो अपना ये सपना जरूर पूरा करना चाहेंगी. शिव डहरिया मंत्री रहने के दौरान छत्तीसगढ़ी को बढ़ावा देने मे भूपेश सरकार के साथ मिलकर अच्छा कार्य किया था जाहिर है अपनी माटी की महक छत्तीसगढ़ी को लेकर आवाज जरूर बुलंद करेंगे.

कांकेर के उमीदवार बिरेश ठाकुर व भोजराज नाग भी छत्तीसगढ़ी मे चुनावी नारा के साथ मैदान मे उतरे थे उम्मीद है ही इसलिए भाषा को आठवीं अनुसूची मे जरूर शामिल कराएंगे अन्य रूप कुमार चौधरी,ताम्रदव्ज साहू, ससी सिंह, चिंतामणी महराज,राधेश्याम राठिया,कमलेश जांगड़े,कवासी लखमा,महेश क्स्यप, विजय बघेल, राजेंद्र साहू संतोष पाण्डेय चुने जाने के बाद दोनों दल के लोग मिल जुल कर छत्तीसगढ की अस्मिता और पहचान छत्तीसगढ़ी को आठवीं अनुसूची मे जरूर शामिल करएँगे.छत्तीसगढ़ छत्तीसगढ़ी के आधार पर अलग राज्य बनाया गया है अब तक इस भाषा को वो सम्मान नहीं मिल पाया है जिसका हकदार है.एम ए छत्तीसगढ़ी छात्र संगठन को इस बार नए सांसदों से पूरा उम्मीद है की सब साथ मिलकर छत्तीसगढ़ी को आठवीं अनुसूची मे जरूर शामिल करायेंगे।

About The Author

1 thought on “नए सांसदों से छत्तीसगढ़ी छात्र संगठन को उम्मीद मिल जुल के छत्तीसगढ़ी को आठवीं अनुसूची मे जरूर शामिल कराएंगे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *