सहकारी केंद्रीय बैंक बिलासपुर की बेलतरा ब्रांच का मामला : कर्ज बांटने में 67 लाख का घोटाला , सी ई ओ अनूप अग्रवाल साधे चुप्पी

0

सहकारी केंद्रीय बैंक बिलासपुर की बेलतरा ब्रांच का मामला : कर्ज बांटने में 67 लाख का घोटाला , सी ई ओ अनूप अग्रवाल साधे चुप्पी:

जाँच के नाम पर चिट्ठी चिट्ठी का खेला जारी…..

भुवन वर्मा बिलासपुर 24 मार्च 2021


बिलासपुर । सहकारी केंद्रीय बैंक की बेलतरा ब्रांच में किसानों को कर्ज बांटने के नाम पर 67 लाख रुपए का घोटाला सामने आया है। साल 2019 20 में केसीसी लोन बांटने के नाम पर हुई इस गड़बड़ी के बाद सहकारी संस्था ने संचालक मंडल को भंग करने और शाखा प्रबंधक व पर्यवेक्षक को दोषी करार देने की बात लिखी है। बैंक की ओर से नोडल अधिकारी ने भी मामले में शाखा प्रबंधक को नोटिस जारी कर तीन दिन के भीतर जवाब देने के निर्देश दिए हैं। अभी प रकरण में ब्रांच के अधिकारियों ने किसी तरह का कोई जवाब नहीं भेजा है।

सहकारी संस्था के प्रभारी अधिकारी रवींद्र तिवारी ने इस प्रकरण में उपपंजीयक को चिट्ठी लिखी है। उन्होंने बताया है कि सेवा सहकारी समिति बाम्हू शाखा बेलतरा के द्वारा प्रस्तुत ब्याज अनुदान 2019-20. में 25 लाख। 64 हजार 453 रुपए का खरीफ फसल ऋण वितरण किया जाना बताकर ब्याज अनुदान के लिए दावा पत्रक लगाया गया है। शाखा बेलतरा से उक्त संबंध में जानकारी ली गई। इसमें ही शाखा प्रबंधक राजेश पांडेय और पर्यवेक्षक रेवती रमण कश्यप द्वारा गुमराह करते हुए उपरोक्त दावे को सही बताया गया। साथ ही दावा पत्रक को प रमाणित कर इसमें हस्ताक्षर भी किया गया। उन्होंने लिखा है कि मेरे द्वारा जांच करने पर प्रस्तुत दावा भ्रामक पाया गया।

जाँच के नाम पर चिट्ठी – चिट्ठी का खेला जारी….

पर हुए इस फर्जीवाड़े के जिम्मेदार सहकारी बैंक के वे अधिकारी भी हैं, जिन्हें समितियों के ऋण वितरण में नजर रखने का जिम्मा सौंपा गया है। फिर भी इसे नजरअंदाज कर रहे हैं। बैंक के सीईओ अनूप अग्रवाल मामले में कुछ बोलने को तैयार नहीं है। जबकि नोडल अधिकारी ने प्रकरण में पत्राचार कर तीन दिन के भीतर नोटिस जारी करने की चिट्ठी चलाई है। वह भी तब जब उन्हें इसकी जानकारी मिली। समझा जा सकता है कि कौन कितना गंभीर है। बैंक के कामकाज को लेकर पहले भी सीईओ अग्रवाल की उदासीनता सामने आ चुकी है। जिस पर बड़े अधिकारियों ने उनसे पूछताछ भी की है।

गड़बड़ी पकड़ी गई है

बालोतरा में जांच करने पर 67 लाख रुपए की गड़बड़ी मिली वहां,संचालक मंडल और शाखा प्रबंधक सहित पर्यवेक्षक के खिलाफॉ कार्रवाई करने के लिए उपपंजीयक को पत्राचार किया गया है।

आरएन तिवारी, प्रभारी अधिकारी, सहकारी संस्था

मेरे समय का मामला नहीं है

। बेलतरा समिति में जिस गड़बड़ी की बात आप पूछ रहे हैं वह मेरे कार्यकाल का नहीं है। उस समय जितेंद्र गौरहा ब्रांच मैनेजर थे। मुझे किसी तरह के बैंक द्वारा भेजे गए नोटिस की जानकारी नहीं है।

राजेश पांडेय, शाखा प्रबंधक बेलतरा

आशीष दुबे बिलासपुर की रिपोर्ट ,,,,,,,,,,,,

About The Author

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed